Magnetic Disk in Hindi मैग्नेटिक डिस्क क्या है?

Data storage की आवश्यकता हमेशा से ही हमे होती आई है। पुराने समय मे जब random access memory पर आधारित hard disk drives और Pandrives जेसे डाटा स्टोरेज माध्यम नहीं हुआ करते थे तब magnetic disk एक बहुत ही प्रचलित और कारगर माध्यम थी तो आइये जानते है What is Magnetic Disk in Hindi

History of Magnetic Data Storage in Hindi

Magnetic Disk in Hindi

Magnetic Drum चुंबकीय डिस्क भंडारण का पहला अवतार थे। ऑस्ट्रियाई आविष्कारक गुस्ताव तौशेक ने 1932 में चुंबकीय ड्रम का विकास किया। Read/Write वाले Head प्रत्येक ड्रम ट्रैक के लिए डिज़ाइन किए गए थे, जो परिधि के ऊपर एक कंपित प्रणाली का उपयोग करते थे।

आईबीएम मुख्य रूप से चुंबकीय डिस्क भंडारण के प्रारंभिक विकास को चलाने के लिए जिम्मेदार है। उन्होंने फ्लॉपी डिस्क ड्राइव और हार्ड डिस्क ड्राइव दोनों का आविष्कार किया और उनके कर्मचारियों को उत्पादों का श्रेय दिया जाता है। आईबीएम ने 1956 से 2003 के बीच डिस्क स्टोरेज डिवाइसों का विकास और निर्माण किया, और फिर 2003 में अपने “हार्ड डिस्क” व्यवसाय को हिताची को बेच दिया।

IBM ने 1969 से 1980 के मध्य तक 8 इंच की फ्लॉपी डिस्क पर अपना ध्यान केंद्रित किया और फ्लॉपी डिस्क को एक पोर्टेबल स्टोरेज डिवाइस बना दिया। यह लचीली प्लास्टिक में संलग्न चुंबकीय फिल्म से बना है और निर्माण के लिए सस्ती है। आईबीएम ने विशेष रूप से सिस्टम / 370 मेनफ्रेम के लिए 8 इंच की फ्लॉपी विकसित की। नकारात्मक पक्ष यह है की एक फ्लॉपी डिस्क को नुकसान पहुंचाना बहुत आसान था।

1976 में, एलन शुगार्ट ने इसका एक छोटा संस्करण विकसित करके, आईबीएम की फ्लॉपी डिस्क में सुधार किया। ऐसा इसलिए है क्योंकि IBM का 8-इंच फ्लॉपी डिस्क एक मानक डेस्कटॉप कंप्यूटर के लिए बहुत बड़ा था। नया 5.25-इंच फ्लॉपी डिस्क निर्माण के लिए सस्ता था और 110 किलोबाइट डेटा संग्रहीत कर सकता था। ये डिस्क बेहद लोकप्रिय हो गईं और अधिकांश व्यक्तिगत कंप्यूटरों में उपयोग की गईं।

3.5 इंच की फ्लॉपी डिस्क पहली बार 1982 मे देखने को मिली। धीरे-धीरे 5.25 इंच की फ्लॉपी डिस्क से अधिक लोकप्रिय हो गई। 3.5 version एक महत्वपूर्ण लाभ के साथ आया था। इसमें चुंबकीय फिल्म के अंदर एक कठोर आवरण था। हालांकि, 1990 के दशक के मध्य तक दोनों प्रारूप काफी लोकप्रिय रहे।

What is Magnetic Disk in Hindi

Magnetic disk आपके कंप्यूटर सिस्टम के लिए secondary storage का सबसे सामान्य रूप है। ऐसा इसलिए है क्योंकि वे उचित लागत पर fast access और high storage क्षमता प्रदान करते हैं। चलिये विस्तार से बात करते है “Magnetic Disk in Hindi” के बारे मे।

चुंबकीय डिस्क ड्राइव में धातु के डिस्क होते हैं जो एक लोहे के ऑक्साइड रिकॉर्डिंग सामग्री के साथ दोनों तरफ लेपित होते हैं। कई डिस्क एक ऊर्ध्वाधर शाफ्ट पर एक साथ connected होती हैं, जो आमतौर पर डिस्क को 3,600 से 7,600 Revolutions per minute (RPM) की गति से घुमाती हैं।

इलेक्ट्रोमैग्नेटिक रीड / राइट हेड एक्सेस आर्म्स द्वारा स्थापित किए जाते हैं, जो कि व्रत्ताकार tracks पर डेटा को पढ़ने और लिखने के लिए थोड़े से अलग किए गए डिस्क में होते हैं। डेटा को सामान्य कंप्यूटर कोड के द्विआधारी अंक (binary digit) बनाने के लिए छोटे चुम्बकीय स्थानों के रूप में tracks पर record किया जाता है।

प्रत्येक ट्रैक पर हजारों बाइट्स रिकॉर्ड किए जा सकते हैं, और प्रत्येक डिस्क की सतह पर कई सौ डेटा ट्रैक होते हैं, इस प्रकार यह आपको अपने सॉफ़्टवेयर और डेटा के लिए अरबों संग्रहण स्थिति प्रदान करता है।

Types of Magnetic Storage Devices

मैग्नेटिक स्टोरेज डिवाइसेज विकसित होने के बाद, इसके आधार पर कई सारे स्टोरेज डिवाइसेज बनाए गए थे लेकिन मुख्य रूप से तीन स्टोरेज डिवाइसेस ही बहुत प्रचलित और उपयोगी साबित हुए जोकि नीचे दर्शाए गए हैं।

Floppy Disk

Magnetic Disk in Hindi

फ्लॉपी डिस्क ऐसी मैग्नेटिक डिस्क थी जिनकी बनावट एक लिफाफे में रखी डिस्क के समान थी। इन्होंने उस समय डाटा स्टोरेज के क्षेत्र में क्रांति ला दी थी, इनमें 80 किलोबाइट से लेकर 2880 किलोबाइट तक का डाटा स्टोर किया जा सकता था। इनमें से सबसे ज्यादा प्रचलित 8 इंच फ्लॉपी 5.25 इंच फ्लॉपी और 3.5 इंच फ्लॉपी ड्राइव है।

विस्तार से जाने Floppy Disk in Hindi

Magnetic Tape

मैग्नेटिक टेप फ्लॉपी डिस्क की तुलना में लंबे समय तक उपयोग में रहे हैं। मुख्य रूप से इसका उपयोग बैकअप स्टोरीज के लिए किया जाता था। यह कॉरपोरेट दुनिया में बहुत ही कारगर साबित हुए हैं। यहां तक कि मैग्नेटिक टेप अब 3 टेराबाइट तक की इंफॉर्मेशन को स्टोर करने में समर्थ है। तो यहाँ हमने जाना what is magnetic tape in Hindi

Magnetic Disk in Hindi

Hard Disk Drive

हार्ड ड्राइव के अंदर एक मैग्नेटिक प्लैटर होता है जो आपकी सभी जानकारियों को स्टोर करके रखता है। अधिकांश कंप्यूटर की हार्ड ड्राइव में मैग्नेटिक प्लैटर का उपयोग होता है, यहां तक कि आज 2020 में भी हार्ड ड्राइव्स के अंदर मैग्नेटिक प्लैटर को देखा जा सकता है।

हार्ड ड्राइव ऐसी जगह है जहां कंप्यूटर का ऑपरेटिंग सिस्टम और प्रोग्राम स्टोर किए जाते हैं तथा एक यूजर का सभी डाटा इसी में स्टोर होता है। बिना हार्ड ड्राइव के किसी कंप्यूटर को ऑपरेटर कर पाना लगभग असंभव है, क्योंकि कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम हार्ड ड्राइव में ही स्टोर होता है जो कि रैम और प्रोसेसर की मदद से एक कंप्यूटर को चलने के सक्षम बनाता है।

Magnetic Disk in Hindi

Conclusions

उपरोक्त लेख मे हमने जाना कि “What is Magnetic Disk in Hindi” और इसके इतिहास के बारे मे भी विस्तृत अध्ययन किया। इससे निसकर्ष यह निकलता है की जेसे जेसे technology विकास कर रही है वेसे वेसे हमे और बेहतर परिणाम मिल रहे है।

यह कहना काफी हद तक सही होगा कि magnetic storage devices के अतिरिक्त भी अन्य तकनीक विकसित हुई है और आगे आने वाले समय मे आश्चर्यजनक परिणाम देखने को मिलेगे जेसे कि SSD (Solid State Drive)। आशा करता हु आपको बहुत कुछ जानने को मिला होगा।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *